1. होम
  2. बायोग्राफी
  3. मार्क ज़ुकरबर्ग का जीवन परिचय

मार्क ज़ुकरबर्ग का जीवन परिचय

मार्क ज़ुकरबर्ग का जीवन परिचय, Mark Zuckerberg Biography in Hindi, मार्क ज़ुकरबर्ग का जन्म 14 मई, 1984 White Plains, New York शहर में पिता एडवर्ड ज़ुकरबर्ग (Edward Zuckerberg) एक दन्त चिकित्सक और माँ करेन केम्प्नेर (Karen Kempner) मनोचिकित्सक के यहाँ हुआ था। मार्क ज़ुकरबर्ग पूरा नाम Mark Elliot Zuckerberg है। वे एक अमेरिकी कंप्यूटर प्रोग्रामर और इन्टरनेट उद्यमी हैं। इन्टरनेट की दुनिया में फेसबुक को लाकर उन्होंने सोशल मीडिया क्रांति को बढावा दिया। वे आज के दिन में फेसबुक के CEO (chief executive officer), मुख्य कार्यकारी तथा साथ ही सह-संस्थापक भी हैं। वर्ष 2015 के अंत में उनकी निजी संपत्ति 46$ अरब होने का अनुमान है।

Mark Zuckerberg Jeevan Parichya Biography

मार्क ज़ुकरबर्ग विएत प्लेन्स, न्यूयोर्क में एक यहूदी परिवार में पैदा हुए हैं और दोब्ब्स फेर्री, न्यूयोर्क में बड़ा हुए। जब वह मिडिल स्कूल में थे तब से ही प्रोग्रम्मिंग शुरू कर दिया था। जब मार्क ज़ुकरबर्ग लगभग 12 वर्ष एक थे तब उन्होंने Atari BASIC का उपयोग करके messaging program बनाया था जिसका मार्क ने 'Zucknet' नाम दिया था। मार्क के पिता इस program को अपने दाँतो का कार्यालय में उपयोग करते थे ताकि दन्त रोगी का स्वागत करने वाला कमरे में आकर चिल्लाए बिना एक नया रोगी की सुचना दे सके।

मार्क ज़ुकरबर्ग की कंप्यूटर में बढती रूचि को बनाये रखने के लिए, मार्क के माता-पिता ने पर्सनल कंप्यूटर के शिक्षक 'David Newma' को हर हफ्ते में एक बार घर आकर और मार्क के साथ काम करने के लिए काम पर रखा। इतना ही नहीं मार्क ने अपने उच्च माध्यमिक स्कूल में एक बुद्धिमान मीडिया MP3 प्लेयर भी बनाया जिससे एक MP3 प्लेयर की लिस्ट बन जाती थी इस लिस्ट में अपने आप यूजर के एक्टिविटी से MP3 लिस्ट वही बनती जो users अभी सुनना चाहता है।

2003 में मार्क ज़ुकरबर्ग को गर्मी की शाम FaceMash बनाने का विचार आया। मार्क ज़ुकरबर्ग ने हार्वर्ड के डेटाबेस को हैक करने का निर्णय लिया जहां कॉलेज स्टूडेंट अपनी प्रोफाइल फोटो अपलोड भी करते थे। Mark ने जल्द ही एक एसा प्रोग्राम बनाया जो ऑटो 2 फीमेल के इमेज show करता है और उन पर वोटिंग चलाता है कि कौन इन दोनों में से ज्यादा beautiful है। वोटिंग website पर आने वाले लोगो के द्वारा की जाती है यानी website पर आने वाले लोग वोटर्स होते थे। इस वेबसाइट पर बहुत ही कम समय में बहुत ही ज्यादा ट्रैफिक आ गये थे। साईट पर ज्यादातर ट्रैफिक हार्वर्ड कॉलेज के छात्र थे। जायदा ट्रैफिक की संख्या बढ़ने पर सर्वर भी क्रेश हो गया था।

इस हादसे के बाद मार्क ज़ुकरबर्ग पर हैकिंग करने का इल्जाम लगा था क्योंकि Mark ने फोटो को डेटाबेस हैक करके ही ली थी और Mark ने जो साईट बनाई थी जहा लडकियों की वोटिंग होती थी, यह भी गलत था। तो इसके लिए मार्क ज़ुकरबर्ग को कमेटी में बुलाया गया और सब Mark को कुछ न कुछ सुना ही रहा था, कि यह किया तो गलत है, वो किया तो इस पर आपका इसका इल्जाम लगता है लेकिन कोई भी यह कह नहीं रहा था की Mark ने इतनी मुस्किल काम को इतने कम समय में आसानी से कर दिया है तो मार्क ज़ुकरबर्ग की इस बुद्धिमता को उपयोग में लिया जाए।

ज़ुकेरबर्ग ने अपने हार्वर्ड छात्रालय के कमरे से 4 फरवरी, 2004 को फेसबुक का प्रारंभ किया। फेसबुक का विचार उन्हें अपने फिलिप्स एक्सेटर अकादेमी के दिनों से शुरू हुआ, इसके बाद ज़ुकेरबर्ग ने फेसबुक को अन्य स्कूलों में प्रसार करने का निश्चय किया और अपने रूममेट डस्टिन मोस्कोवित्ज़ के मदद से समर्थन प्राप्त किया। उन्होंने पहले उसे स्टानफोर्ड, डार्टमाउथ कोलम्बिया, कोर्नेल और येल में प्रसार किया और हार्वर्ड के सामाजिक संपर्कों के साथ अन्य स्कूलों में प्रसार किया।

जब फेसबुक पर 4000 ट्रैफिक हो गए तब Mark और उसके पार्टनर eduardo ने कुछ और नए programmers को काम पर लगाया जो website पर अच्छे तरीके से काम करे। मार्क ज़ुकरबर्ग कंपनी के वोट का लगभग 60% नियंत्रित करतें है, 35% – eduardo Saverin, और 5% बाकि के नए पार्टनर। 2005 से Facebook को पुरे USA के सभी संस्थानों और विश्वविद्यालयो में उपयोग करने योग्य बन गई। Mark एक ही बात को मानते थे वो बस उनकी वेबसाइट Students के लिए है।

Facebook पर बहुत तेज़ी से ट्रैफिक बढ़ने लगे और जैसे ही 50 मिलियंस ट्रैफिक हुए फिर एक बड़ी कंपनी Yahoo! ने Mark से Facebook को खरीदने का ऑफर किया। सबसे पहला ऑफर Yahoo! ने 900 मिलियंस डॉलर फेसबुक के लिए ऑफर किया था। हलाकि यह बहुत बड़ी रकम है लेकिन Mark ने इस ऑफर को पूरा नहीं किया। इसके साथ ही Facebook बहुत ही आगे बढ़ने लगी और धेरे-धीरे यह पुरे दुनिया के कोने कोने में उपयोग होने लगी। और आज फेसबुक पूरी दुनिया की सबसे बड़ी सोशल साईट है, जिस पर हर इन्टरनेट यूजर अकाउंट बनता/बनती ही है। और साथ ही आज मार्क ज़ुकरबर्ग पुरे दुनिया के सबसे बड़े Yongest Billionairs मे से एक है।

नोट :- आपको ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट्स बॉक्स में जरूर लिखे और शेयर करें, धन्यवाद।

Related Posts :

  1. सुभाष चन्द्र बोस का जीवन परिचय
  2. लाला लाजपत राय का जीवन परिचय
  3. चन्द्रशेखर आजाद का जीवन परिचय
  4. महाराणा प्रताप का जीवन परिचय
  5. सुखदेव का जीवन परिचय
  6. अशफ़ाक़ उल्ला ख़ाँ का जीवन परिचय