धार्मिक आरती - Religious Aarti

आप यहाँ सभी देवी-देवताओं की आरती, धार्मिक आरती, आरती वंदना आदि पढ़ सकते हैं। भारत में विभिन्न देवी देवता की पूजा की जाती है, देवी देवता की पूजा में आरती का विशेष महत्त्व होता है।

आप यहाँ गणेश जी की आरती, महाशिवरात्रि आरती, बृहस्पति देव जी की आरती, चामुण्डा देवी जी की आरती, सीता माता की आरती, हरि विष्णु जी की आरती, राधा जी की आरती, शिव जी की आरती, संतोषी माता की आरती, शनि देव जी की आरती, गायत्री माता की आरती, श्री सत्यनारायण जी की आरती, हनुमान जी की आरती, काली माता की आरती, आरती देवी अन्नपूर्णा जी की, सूर्य देव की आरती, सरस्वती माता की आरती, लक्ष्मी माता की आरती, श्री कृष्ण जी की आरती, साईं बाबा की आरती, दुर्गा माता जी की आरती, पार्वती माता की आरती, रामचन्द्र जी की आरती, आरती कुंजबिहारी की, श्री सरस्वती माता की आरती, श्री बाँके बिहारी जी की आरती, श्री गंगा माता की आरती, श्री जगदीश जी की आरती, श्री भैरव जी की आरती, श्री शाकुम्भरी माता की आरती, माता वैष्णो की आरती, भगवन श्री खाटू श्याम जी की आरती, विश्वकर्मा जी की आरती, गोमाता की आरती, श्री अहोई माता की आरती, श्री रामायण जी की आरती, आदि आरतियाँ पढ़ सकते हैं ।

आप अपना सुझाव हमें देने के लिए हमसे यहाँ संपर्क कर सकते है।

शिरडी सांई बाबा की आरती

Shirdi Sai Aarti Religious Aarti

"आरती" ॐ जय साईं हरे, बाबा शिरडी साईं हरे। भक्तजनों के कारण, उनके कष्ट निवारण॥ शिरडी में अव-तरे, ॐ जय साईं हरे। ॐ जय साईं हरे, बाबा शिरडी साईं हरे॥ दुखियन के सब कष्टन काजे, शिरडी में प्रभु आप विराजे। फूलों की गल माला राजे, कफनी, शैला सुन्दर साजे॥ कारज सब के करें, ॐ जय...Read More

श्री रामायण जी की आरती

Ramayan Aarti Religious Aarti

"आरती" आरती श्री रामायण जी की, कीरत कलित ललित सिय पिय की। गावत ब्रह्मादिक मुनि नारद, बाल्मीक विज्ञानी विशारद। शुक सनकादि शेष अरु सारद, वरनि पवन सुत कीरति निकी।। आरती श्री रामायण जी की.... संतन गावत शम्भु भवानी, असु घट सम्भव मुनि विज्ञानी। व्यास आदि कवि पुंज बखानी, काकभूसुंडि गरुड़ के हिय की।।...Read More

श्री सिद्धिदात्री माता जी की आरती

Siddhidatri Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय सिद्धिदात्री माँ तू सिद्धि की दाता। तु भक्तों की रक्षक तू दासों की माता॥ तेरा नाम लेते ही मिलती है सिद्धि। तेरे नाम से मन की होती है शुद्धि॥ कठिन काम सिद्ध करती हो तुम। जभी हाथ सेवक के सिर धरती हो तुम॥ तेरी पूजा में तो ना कोई विधि है। तू जगदंबे...Read More

महागौरी माता जी की आरती

Mahagauri Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय महागौरी जगत की माया। जया उमा भवानी जय महामाया॥ हरिद्वार कनखल के पासा। महागौरी तेरी वहां निवासा॥ चंद्रकली ओर ममता अंबे। जय शक्ति जय जय माँ जगंदबे॥ भीमा देवी विमला माता। कौशिकी देवी जग विख्यता॥ हिमाचल के घर गौरी रूप तेरा। महाकाली दुर्गा है स्वरूप तेरा॥ सती {सत} हवन कुंड में...Read More

श्री स्कंदमाता जी की आरती

Skandmata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय तेरी हो स्कंद माता। पांचवां नाम तुम्हारा आता॥ सबके मन की जानन हारी। जग जननी सबकी महतारी॥ तेरी जोत जलाता रहू मैं। हरदम तुझे ध्याता रहू मै॥ कई नामों से तुझे पुकारा। मुझे एक है तेरा सहारा॥ कही पहाडो पर है डेरा। कई शहरों में तेरा बसेरा॥ हर मंदिर में तेरे...Read More

1234...»