धार्मिक आरती - Religious Aarti

Aarti

आप यहाँ सभी देवी-देवताओं की आरती, धार्मिक आरती, आरती वंदना आदि पढ़ सकते हैं। भारत में विभिन्न देवी देवता की पूजा की जाती है, देवी देवता की पूजा में आरती का विशेष महत्त्व होता है।

आप यहाँ गणेश जी की आरती, महाशिवरात्रि आरती, बृहस्पति देव जी की आरती, चामुण्डा देवी जी की आरती, सीता माता की आरती, हरि विष्णु जी की आरती, राधा जी की आरती, शिव जी की आरती, संतोषी माता की आरती, शनि देव जी की आरती, गायत्री माता की आरती, श्री सत्यनारायण जी की आरती, हनुमान जी की आरती, काली माता की आरती, आरती देवी अन्नपूर्णा जी की, सूर्य देव की आरती, सरस्वती माता की आरती, लक्ष्मी माता की आरती, श्री कृष्ण जी की आरती, साईं बाबा की आरती, दुर्गा माता जी की आरती, पार्वती माता की आरती, रामचन्द्र जी की आरती, आरती कुंजबिहारी की, श्री सरस्वती माता की आरती, श्री बाँके बिहारी जी की आरती, श्री गंगा माता की आरती, श्री जगदीश जी की आरती, श्री भैरव जी की आरती, श्री शाकुम्भरी माता की आरती, माता वैष्णो की आरती, भगवन श्री खाटू श्याम जी की आरती, विश्वकर्मा जी की आरती, गोमाता की आरती, श्री अहोई माता की आरती, श्री रामायण जी की आरती, आदि आरतियाँ पढ़ सकते हैं।

शैलपुत्री माता आरती

Mata Shailputri Aarti Religious Aarti

श्री शैलपुत्री माता जी की आरती, Shailputri Mata Aarti in Hindi, शैलपुत्री माता वृषभ पर विराजमान रहती हैं। शैलपुत्री माता के दाहिने हाथ में त्रिशूल है और बाएं हाथ में कमल पुष्प सुशोभित है। यही नवदुर्गाओं में प्रथम दुर्गा है। नवरात्रि के प्रथम दिन देवी उपासना के अंतर्गत शैलपुत्री का पूजन करना चाहिए और आरती का गानी चाहिए जिसके प्रभाव से माँ शैलपुत्री प्रसन्न होती है और अपने भक्त की मनोकामना पूरी करती हैं। ...Read More

-Advertisement-

शिरडी सांई बाबा की आरती

Shirdi Sai Aarti Religious Aarti

शिरडी सांई बाबा की आरती, Shirdi Sai Baba Ki Aarti in Hindi, शिरडी वाले साईं बाबा को हिन्दू और मुस्लिम दोनों संप्रदाय के लोग पूजते हैं। साईं बाबा ने जीवन भर मानव कल्याण के कार्य किए। भारत के बेहद पूजनीय और प्रसिद्ध संत और फकीरों में साईं बाबा का विशेष स्थान है। कहते हैं जिसका कोई नहीं उसका सांई है। किसी भी धार्मिक दायरे से दूर बाबा हर इंसान के दूख-दर्द को दूर करते हैं। जो भी सांई राम की शरण में जाता है वो उनके दर से खाली नहीं आता। बाबा को मन से याद करो तो वो...Read More

श्री रामायण जी की आरती

Ramayan Aarti Religious Aarti

श्री रामायण जी की आरती, Sri Ramayan Ji Ki Aarti in Hindi, रामायण आदि कवि वाल्मीकि द्वारा लिखा गया संस्कृत का एक अनुपम महाकाव्य है। इसके २४,००० श्लोक हैं। यह हिन्दू स्मृति का वह अंग हैं जिसके माध्यम से रघुवंश के राजा राम की गाथा कही गयी। इसे आदिकाव्य भी कहा जाता है। रामायण के सात अध्याय हैं जो काण्ड के नाम से जाने जाते हैं। ...Read More

-Advertisement-

श्री सिद्धिदात्री माता जी की आरती

Siddhidatri Mata Aarti Religious Aarti

श्री सिद्धिदात्री माता जी की आरती, Siddhidatri Mata Aarti in Hindi, माँ दुर्गाजी की नौवीं शक्ति का नाम सिद्धिदात्री हैं। ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्र-पूजन के नौवें दिन इनकी उपासना की जाती है। इस दिन शास्त्रीय विधि-विधान और पूर्ण निष्ठा के साथ साधना करने वाले साधक को सभी सिद्धियों की प्राप्ति हो जाती है। सृष्टि में कुछ भी उसके लिए अगम्य नहीं रह जाता है। ब्रह्मांड पर पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामर्थ्य उसमें आ जाती है। ...Read More

-Advertisement-

महागौरी माता जी की आरती

Mahagauri Mata Aarti Religious Aarti

महागौरी माता जी की आरती, Mahagauri Mata Ki Aarti in Hindi, माँ दुर्गाजी की आठवीं शक्ति का नाम महागौरी है। दुर्गापूजा के आठवें दिन महागौरी की उपासना का विधान है। इनकी शक्ति अमोघ और सद्यः फलदायिनी है। इनकी उपासना से भक्तों को सभी कल्मष धुल जाते हैं, पूर्वसंचित पाप भी विनष्ट हो जाते हैं। भविष्य में पाप-संताप, दैन्य-दुःख उसके पास कभी नहीं जाते। वह सभी प्रकार से पवित्र और अक्षय पुण्यों का अधिकारी हो जाता है। ...Read More

1234...»