हिंदी कविता - Hindi Rhymes

गुब्बारेवाला

Gubbarewala Hindi Rhymes

"कविता" लो बच्चो ! ले लो गुब्बारे, रंग-बिरंगे, प्यारे-प्यारे। लाल-हरे और नीले-पीले, कुछ कसे और कुछ हैं ढीले। एक का एक रुपया है दाम, सुबह को खेलो या फिर शाम। इनको देख के मुन्नी मचली, दोड़कर वो घर से निकली। रवि, चुन्नू , पिंटू भी आए, एक-एक रुपया हाथ...Read More

1...29303132