बाल कहानियाँ - Stories for kids

एक थी मैना - बाल कहानी

Ek Thi Maina Kids Stories Stories For Kids

"कहानी" एक थी मैना। डैने फैलाकर उड़ती थी तथा मीठे बैन सुनाती थी। एक दिन वह मीना के खपरैल घर पर बैठी थी। एक शैतान लड़का उसे पकड़ने की तैयारी में जुटा। सैर करने वाले कैलाश ने उसे देख लिया। कैलाश नहीं जानता था की मैना को वह शैतान लड़का पकड़े इसलिए कैलाश ने एक ढेला मैना की...Read More

मेले का मज़ा - बाल कहानी

Mele Ka Maja Kids Stories Stories For Kids

"कहानी" महेश, सुरेश तथा गणेश सभी मेला देखने गए। सबने रेलगाड़ी का टिकट कटाया। फिर वे रेलगाड़ी पर चढ़ गए और रेलगाड़ी चलने लगा। पहले रेलगाड़ी धीरे-धीरे चली। फिर तेज हो गई। खेत-खलिहान सभी भागते नजर आए। रेलगाड़ी के रुकने के बाद सभी रेलगाड़ी से उतरकर मेला गए। मेले में बहुत भीड़ थी। सबने सरकस देखा। मदारी...Read More

जैसी करनी, वैसी भरनी

Jaisi Karni Waisi Bharni Stories For Kids

इसी बीच मृग की दृष्टी बृषभ पर पड़ी। वह उसकी नियत ताड़ गया। बस, फिर क्या था वह मृग उछल कर भागा। पीछे-पीछे वृषभ भी भागा। रास्ते में एक नाला आ गया, मृग कूद कर उस नाले को पार कर गया। मृग को नाला पार करते देख बृषभ भी नाले को पार करना चाहा पर वह नाले को पार...Read More

तन मजबूत, मन मजबूत

Tan Majbut Man Majbut Stories For Kids

चूहे के बार-बार कहने पर भी चुहिया राजी नही हुई और कहा - पूड़ी और आलू न खाओ वरना पसर जाओगे। चल-फिर न पाओगे। बात मेरी मान जाओ। चूहे ने कहा खाऊंगा तभी तो तन और मन मजबूत होगा। तब चुहिया बोली तन मजबूत और मन मजबूत करना है तो तरबूज और खरबूज लाकर खा, खजूर खा, खूब दूध...Read More

नादान बकरियाँ

Nadan Bakariyan Stories For Kids

जब दोनों एक-दुसरे के सामने पहुँचीं तो रिंकी बोली, "चिंकी , मेरा रास्ता छोड़। पहले मुझे निकल जाने दे। मझे बहुत दूर जाना है।" चिंकी भी घमंड में भरकर बोली, "मैं क्यों हटूं , हटना तो तुझे पड़ेगा। तू नीचे बैठ जा। मैं तेरे ऊपर चढ़कर चली जाऊँगी, फिर तू भी चली जाना।" "बड़ी आई मुझे झुकाने वाली।...Read More