सरस्वती माता की आरती

Saraswati Mata Religious Aarti

"आरती" कज्जल पुरित लोचन भारे, स्तन युग शोभित मुक्त हारे। वीणा पुस्तक रंजित हस्ते, भगवती भारती देवी नमस्ते॥ जय सरस्वती माता, जय जय हे सरस्वती माता। दगुण वैभव शालिनी, त्रिभुवन विख्याता ॥ जय सरस्वती माता, जय जय हे सरस्वती माता। चंद्रवदनि पदमासिनी, घुति मंगलकारी। सोहें शुभ हंस सवारी, अतुल तेजधारी॥ जय सरस्वती माता, जय जय...Read More

धार्मिक आरती

शिव जी की आरती

Shiv Ji Religious Aarti

"आरती" कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारं। सदा वसन्तं ह्रदयाविन्दे भंव भवानी सहितं नमामि॥ जय शिव ओंकारा हर ॐ शिव ओंकारा। ब्रम्हा विष्णु सदाशिव अद्धांगी धारा॥ ॐ जय शिव ओंकारा...... एकानन चतुरानन पंचांनन राजे। हंसासंन, गरुड़ासन, वृषवाहन साजे॥ ॐ जय शिव ओंकारा...... दो भुज चारु चतुर्भज दस भुज अति सोहें। तीनों रुप निरखता त्रिभुवन जन...Read More

धार्मिक आरती

संतोषी माता की आरती

Santoshi Mata Religious Aarti

"आरती" जय संतोषी माता, मैया जय संतोषी माता। अपने सेवक जन को, सुख संपति दाता॥ जय सुंदर चीर सुनहरी, मां धारण कीन्हो। हीरा पन्ना दमके, तन श्रृंगार लीन्हो॥ जय गेरू लाल छटा छवि, बदन कमल सोहे। मंद हँसत करूणामयी, त्रिभुवन जन मोहे॥ जय स्वर्ण सिंहासन बैठी, चंवर ढुरे प्यारे। धूप, दीप, मधुमेवा, भोग धरें न्यारे॥...Read More

धार्मिक आरती

शनि देव जी की आरती

Shani Dev Ki Aarti Religious Aarti

"आरती" जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी। सूरज के पुत्र प्रभु छाया महतारी॥ जय... श्याम अंक वक्र दृष्ट चतुर्भुजा धारी। नीलाम्बर धार नाथ गज की असवारी॥ जय... क्रीट मुकुट शीश रजित दिपत है लिलारी। मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी॥ जय... मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी। लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी॥ जय......Read More

धार्मिक आरती

गायत्री माता की आरती

Gaytri Mata Religious Aarti

"आरती" जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता। आदि शक्ति तुम अलख निरंजन जग पालन कर्त्री। दुःख शोक भय क्लेश कलह दारिद्र्य दैन्य हर्त्री॥ ब्रह्मरूपिणी, प्रणत पालिनी, जगत धातृ अम्बे। भव-भय हारी, जन हितकारी, सुखदा जगदम्बे॥ भयहारिणि, भवतारिणि, अनघे अज आनन्द राशी। अविकारी, अघहरी, अविचलित, अमले, अविनाशी॥ कामधेनु सत-चित-आनन्दा जय गंगा गीता। सविता...Read More

धार्मिक आरती