शनि देव जी की आरती

Shani Dev Ki Aarti Religious Aarti

शनि देव जी की आरती (Shani Dev Aarti in Hindi) धर्मग्रंथो के अनुसार सूर्य की पत्नी संज्ञा की छाया के गर्भ से शनि देव का जन्म हुआ, जब शनि देव छाया के गर्भ में थे तब छाया भगवान शंकर की भक्ति में इतनी ध्यान मग्न थी की उसने अपने खाने पिने तक शुध नहीं थी जिसका प्रभाव उसके पुत्र पर पड़ा और उसका वर्ण श्याम हो गया। ...Read More

धार्मिक आरती

-Advertisement-

गायत्री माता की आरती

Gaytri Mata Religious Aarti

गायत्री माता की आरती (Gaytri Mata Aarti in Hindi) गायत्री उपासना कभी भी, किसी भी स्थिति में की जा सकती है। हर स्थिति में यह लाभदायी है, परन्तु विधिपूर्वक भावना से जुड़े न्यूनतम कर्मकाण्डों के साथ की गयी उपासना अति फलदायी मानी गयी है। ...Read More

धार्मिक आरती

श्री सत्यनारायण जी की आरती

Satya Narayan Religious Aarti

श्री सत्यनारायण जी की आरती (Satya Narayan Aarti in Hindi) सत्य को नारायण (विष्णु) के रूप में पूजना ही सत्यनारायण की पूजा है। इसका दूसरा अर्थ यह है कि संसार में एकमात्र नारायण ही सत्य हैं, बाकी सब माया है। सत्यनारायण भगवान की कथा बहुत प्रचलित है। ...Read More

धार्मिक आरती

-Advertisement-

राधा जी की आरती

Radha Ji Ki Aarti Religious Aarti

राधा जी की आरती (Radha Ji Ki Aarti in Hindi) राधा जी श्री कृष्ण की प्राणसखी, ब्रज धाम की रानी और वृषभानु की पुत्री है। राधा कृष्ण शाश्वत प्रेम का प्रतीक हैं। राधा की माता कीर्ति के लिए 'वृषभानु पत्नी' शब्द का प्रयोग किया जाता है। राधा को कृष्ण की प्रेमिका और कहीं-कहीं पत्नी के रूप में माना जाता हैं। ...Read More

धार्मिक आरती

-Advertisement-

हरि विष्णु जी की आरती

Hari Vishnu Religious Aarti

हरि विष्णु जी की आरती (Hari Vishnu Aarti in Hindi) हिन्दू धर्म के आधारभूत ग्रन्थों में बहुमान्य पुराणानुसार विष्णु परमेश्वर के तीन मुख्य रूपों में से एक रूप हैं। पुराणानुसार विष्णु की पत्नी लक्ष्मी हैं। विष्णु का निवास क्षीर सागर है। उनका शयन शेषनाग के ऊपर है। उनकी नाभि से कमल उत्पन्न होता है जिसमें ब्रह्मा जी स्थित हैं। ...Read More

धार्मिक आरती

-Advertisement-