कवि

आप यहाँ कवि सम्बंधित सभी जानकारियों को पढ़ कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते है।


जगन्नाथदास रत्नाकर का जीवन परिचय

Jagannathdas Ratnakar Jeevan Parichay Biography

जगन्नाथदास रत्नाकर का जीवन परिचय, Jagannathdas Ratnakar Biography in Hindi, जगन्नाथदास रत्नाकर (१८६६ - २१ जून १९३२) आधुनिक युग के श्रेष्ठ ब्रजभाषा कवि थे। इनका जन्म सं. 1923 (सन्‌ 1866 ई.) के भाद्रपद शुक्ल पंचमी के दिन हुआ था। भारतेंदु बावू हरिश्चंद्र की भी यही जन्मतिथि थी और वे रत्नाकर जी से 16 वर्ष बड़े थे। उनके पिता का नाम पुरुषोत्तमदास और पितामह का नाम संगमलाल अग्रवाल था जो काशी के धनीमानी व्यक्ति थे। रत्नाकर जी की प्रारंभिक शिक्षा . . . Read More . . .

Advertisement

श्रीधर पाठक का जीवन परिचय

Shridhar Pathak Jeevan Parichay Biography

श्रीधर पाठक का जीवन परिचय, Shridhar Pathak Biography in Hindi, श्रीधर पाठक (११ जनवरी १८५८ - १३ सितंबर १९२८) प्राकृतिक सौंदर्य, स्वदेश प्रेम तथा समाजसुधार की भावनाओ के हिन्दी कवि थे। वे प्रकृतिप्रेमी, सरल, उदार, नम्र, सहृदय, स्वच्छंद तथा विनोदी थे। वे हिंदी साहित्य सम्मेलन के पाँचवें अधिवेशन (1915, लखनऊ) के सभापति हुए और 'कविभूषण' की उपाधि से विभूषित भी। हिंदी, संस्कृत और अंग्रेजी पर उनका समान अधिकार था। . . . Read More . . .


सरोजिनी नायडू का जीवन परिचय

Sarojini Naidu Jeevan Parichay Biography

सरोजिनी नायडू का जीवन परिचय, Sarojini Naidu Biography in Hindi, सरोजिनी नायडू (१३ फरवरी १८७९ - २ मार्च १९४९) का जन्म भारत के हैदराबाद नगर में हुआ था। इनके पिता अघोरनाथ चट्टोपाध्याय एक नामी विद्वान तथा माँ कवयित्री थीं और बांग्ला में लिखती थीं। बचपन से ही कुशाग्र-बुद्धि होने के कारण उन्होंने १२ वर्ष की अल्पायु में ही १२हवीं की परीक्षा अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण की और १३ वर्ष की आयु में लेडी आफ दी लेक नामक कविता . . . Read More . . .

Advertisement

मैथिलीशरण गुप्त का जीवन परिचय

Maithili Sharan Gupt Jeevan Parichay Biography

मैथिलीशरण गुप्त का जीवन परिचय, Maithili Sharan Gupt Biography in Hindi, राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त (३ अगस्त १८८६ – १२ दिसम्बर १९६४) हिन्दी के कवि थे। महावीर प्रसाद द्विवेदी जी की प्रेरणा से आपने खड़ी बोली को अपनी रचनाओं का माध्यम बनाया और अपनी कविता के द्वारा खड़ी बोली को एक काव्य-भाषा के रूप में निर्मित करने में अथक प्रयास किया और इस तरह ब्रजभाषा जैसी समृद्ध काव्य-भाषा को छोड़कर समय और संदर्भों के अनुकूल होने के कारण नये कवियों . . . Read More . . .

Advertisement

श्यामसुन्दर दास का जीवन परिचय

Shyamsundar Das Jeevan Parichay 1 Biography

श्यामसुन्दर दास का जीवन परिचय, Shyamsundar Das Biography in Hindi, डॉ॰ श्यामसुंदर दास (सन् 1875 - 1945 ई.) हिंदी के अनन्य साधक, विद्वान्, आलोचक और शिक्षाविद् थे। हिंदी साहित्य और बौद्धिकता के पथ-प्रदर्शकों में उनका नाम अविस्मरणीय है। हिंदी-क्षेत्र के साहित्यिक-सांस्कृतिक नवजागरण में उनका योगदान विशेष रूप से उल्लेखनीय है। उन्होंने और उनके साथियों ने मिलकर काशी नागरी प्रचारिणी सभा की स्थापना की। . . . Read More . . .


Categories