तुलसी माता

आप यहाँ तुलसी माता सम्बंधित सभी आर्टिकल पढ़ सकते है।

श्री तुलसी माता की आरती

Tulsi Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय तुलसी माता, मैया जय तुलसी माता। सब जग की सुख दाता, सबकी वर माता।। सब योगों से ऊपर, सब रोगों से ऊपर। रज से रक्ष करके, सबकी भव त्राता।। बहु पुत्री है श्यामा, सूर बल्ली है ग्राम्या। विष्णुप्रिय को सेवे, सो नर तर जाता।। हरि के शीश विराजत, त्रिभुवन से हो वंदित। पतित...Read More

धार्मिक आरती

श्री तुलसी माता जी का चालीसा 

Tulasi Mata Chalisa

॥दोहा॥ जय जय तुलसी भगवती सत्यवती सुखदानी। नमो नमो हरि प्रेयसी श्री वृन्दा गुन खानी॥ श्री हरि शीश बिरजिनी, देहु अमर वर अम्ब। जनहित हे वृन्दावनी अब न करहु विलम्ब॥ ॥चौपाई॥ धन्य धन्य श्री तलसी माता। महिमा अगम सदा श्रुति गाता॥ हरि के प्राणहु से तुम प्यारी। हरीहीँ हेतु कीन्हो तप भारी॥ जब प्रसन्न है...Read More

धार्मिक चालीसा