हिंदी में जनरल नॉलेज (General Knowledge in Hindi). . .

हम यहाँ हिंदी में विभिन्न जानकारी प्रदान कर रहे हैं। जैसे - बेस्ट बायोग्राफी, कविता, योजनाएँ, उद्धरण, नारे, दोहे, निबंध, कहानियाँ, व्यंजनों, स्वास्थ्य सौंदर्य टिप्स, जनरल नॉलेज, इत्यादि, इन सभी जानकारियों को पढ़ कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते है।


फिर वही क़िस्सा सुनाना तो चाहिए

फिर वही क़िस्सा सुनाना तो चाहिए, फिर वही सपना सजाना तो चाहिए। यूँ मशक़्क़त इश्क़ में करनी चाहिए, जाम नज़रों से पिलाना तो चाहिए। . . . Read More . . .

Advertisement

जय तिरंग ध्वज …

Jay Tirang Dhwaj Poem Hindi Rhymes

जय तिरंग ध्वज लहराओ, दुर्ग और मीनारों पर, मंदिर और घर द्वारों पर, अंबर के नीले तल पर, सागर के गहरे जल पर। सत्य पताका फहराओ, जय तिरंग ध्वज लहराओ। मुक्ति दिवस भारत माँ का, बीता समय निराशा का, युग-युग तक मिटने के बाद, पुन: हो रहे हैं आबाद। विजय गीत सौ-सौ गाओ, जय तिरंग ध्वज लहराओ। मिटी हमारी लाचारी, अब उठने की है बारी, आओ सब मिल काम करें, सारे जग में नाम करें। . . . Read More . . .


चलो आज कुछ करते है

Chalo Aaj Kuchh Karte Hain Hindi Rhymes

धरती की रक्षा के खातिर, चलो आज कुछ करते है। पर्यावरण की सुरक्षा खातिर, चलो आज कुछ करते है।। पालीथीन और शीतलक गैसों को त्याग कर के हम। मिलकर इस परीक्षा खातिर, चलो आज कुछ करते है।। पेड़ लगा के धरती का,चलो आज श्रृंगार करें। इसके बिना नही जीवन है, बात ये स्वीकार करे।। प्राण वायु का सृजन करते है पेड़ और पौधे। आओ हम सब मिलकर के, इनका आभार करे।। . . . Read More . . .

Advertisement

साइखोम मीराबाई चानू का जीवन परिचय

Mirabai Chanu Biograpy Biography

मीराबाई चानू (Saikhom Mirabai Chanu) ने 24 जुलाई 2021 को टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीत भारत का टोक्यो ओलंपिक में खाता खोला था। वह गोल्ड मेडल जीतने से बस थोड़ा ही चूक गईं थी। खेल मंत्रालय ने विराट कोहली और वर्ल्ड चैंपियन वेटलिफ्टर साइखोम मीराबाई चानू के इस साल का खेल रत्न देने का फैसला किया है। ये स्पोर्ट्स का सबसे बड़ा अवॉर्ड है। 22 जनवरी आईएएनएस भारोत्तोलन में भारत के पहले द्रोणाचार्य अवार्डी विजेता पाल सिंह संधू . . . Read More . . .

Advertisement

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

Neeraj Chopra Biography Biography

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय (Neeraj Chopra Biography) नीरज चोपड़ा आज किसी नाम के मोहताज नहीं हैं। आज भारत के बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी नीरज चोपड़ा से परिचित हैं। लेकिन नीरज चोपड़ा को सोने का तमगा यूं ही नहीं मिला है। इसके लिए उन्होंने काफी त्याग किए हैं। ध्यान सिर्फ तैयारी पर रहे, इसके लिए उन्होंने एक साल पहले ही मोबाइल फोन से किनारा कर लिया था। वे मोबाइल को स्विच ऑफ रखते थे। जब भी मां . . . Read More . . .


Categories