1. होम
  2. धार्मिक आरती
  3. राधा जी की आरती

राधा जी की आरती

राधा जी की आरती (Radha Ji Ki Aarti in Hindi) राधा जी श्री कृष्ण की प्राणसखी, ब्रज धाम की रानी और वृषभानु की पुत्री है। राधा कृष्ण शाश्वत प्रेम का प्रतीक हैं। राधा की माता कीर्ति के लिए 'वृषभानु पत्नी' शब्द का प्रयोग किया जाता है। राधा को कृष्ण की प्रेमिका और कहीं-कहीं पत्नी के रूप में माना जाता हैं।

Radha Ji Ki Aarti Religious Aarti

-Advertisement-

"आरती"

ॐ जय श्री राधा जय श्री कृष्ण।
ॐ जय श्री राधा जय श्री कृष्ण।।
श्री राधा कृष्णाय नमः ..

घूम घुमारो घामर सोहे जय श्री राधा।
पट पीताम्बर मुनि मन मोहे जय श्री कृष्ण।।

जुगल प्रेम रस झम झम झमकै।
श्री राधा कृष्णाय नमः ..

राधा राधा कृष्ण कन्हैया जय श्री राधा।
भव भय सागर पार लगैया जय श्री कृष्ण।।

मंगल मूरति मोक्ष करैया।
श्री राधा कृष्णाय नमः ..

-Advertisement-

-Advertisement-

Related Posts :

  1. शैलपुत्री माता आरती
  2. शिरडी सांई बाबा की आरती
  3. श्री रामायण जी की आरती
  4. श्री सिद्धिदात्री माता जी की आरती
  5. महागौरी माता जी की आरती
  6. श्री स्कंदमाता जी की आरती