बाल कहानियाँ - Stories for kids

आप यहाँ विभिन्न प्रकार के किड्स स्टोरी, बच्चों के लिए कहानियाँ, स्टोरी फॉर किड्स, हिंदी स्टोरी, इंग्लिश स्टोरी, नर्सरी स्टोरी आदि के बारे में पढ़ सकते हैं। लोकप्रिय कवियों तथा कवित्रियों द्वारा हिंदी तथा इंग्लिश में बच्चों की कहानियों का संग्रह, बच्चों के लिए लिखी गई बाल-कहानियाँ, २ से १५ साल के बच्चों के लिये कहानियाँ तथा जानकारियाँ, हास्य के लिए लिखी गयी कहानियाँ, छोटे बच्चों की छोटी कहानियाँ आदि।

You read here various kinds of Stories for kids, kids story, stories for children, kids stories, children stories, english story, short stories, kids short stories, picture story for kids, online stories, hindi story, LKG Story, Nursery story, UKG story etc.

आप अपना सुझाव हमें देने के लिए हमसे यहाँ संपर्क कर सकते है।

जंगल की पाठशाला - बाल कहानी

Jangal Ki Pathshala Kids Stories Stories For Kids

"कहानी" एक दिन शेर सिंह अपने जंगल में घूमने निकले। घूमते-घामते एक पेड़ पर टंगी एक तख्ती देखी। रुक गए। जोर से दहाड़ा। उनकी दहाड़ सुन चुन्नू चूहा अपने बिल से निकला। शेर सिंह को देखा तो हाथ जोड़कर खड़ा हो गया। बोला- 'क्या हुआ महाराज? क्या गलती हुई?' शेर सिंह ने तख्ती की...Read More

सहायता और इनाम - बाल कहानी

Sahayata Aur Enaam Kids Stories Stories For Kids

"कहानी" सबेरा हुआ। सूर्य पर्वत की ओट से निकला। उसकी सुवर्ण किरणें पेड़ों की फुनगियों पर चमकने लगीं। अर्चना और प्रेरणा प्रातः भ्रमण को निकलीं। बाग़ के समीप एक ट्रक उलटा पड़ा था। पास ही गिरा ड्राइवर कराह रहा था। दोनों ने उसे पानी पिलाया। फिर बस पर बिठाकर अस्पताल ले गईं। इलाज के लिए अर्चना...Read More

चहेती मंजू - बाल कहानी

Chaheti Manjoo Kids Stories Stories For Kids

"कहानी" मंजू सुबह छः बजे उठती है। सभी बड़ों को नमो नमः करती है। साधारणतः वह रोज पाठशाला जाती है। सबेरे जलपान कर पढ़ने बैठ जाती है। पाठ याद करने के लिए वह उसे पुनः-पुनः पढ़ती है। शनैः-शनैः उसे पाठ याद हो जाता है। अंततः खाना खाकर वह पाठशाला जाती है। संभवतः उसे हर विषय में अधिकाधिक...Read More

अंगूर और लंगूर - बाल कहानी

Angoor Aur Langur Kids Stories Stories For Kids

"कहानी" रंजना और मंगला गंगा-किनारे मंदिर में पूजा करने गईं। दोनों ने शंकर जी को फूल और चंदन चढ़ाया। बेर और अंगूर भी चढ़ाए। नमन कर घंटा बजाया। जोर से शंख भी फूंका। बाहर आकर थाल चबूतरे पर रख दोनों बातें करने लगीं। मंदिर के मुंडेर पर बैठे लंगूर ने अंगूर देखे। धीरे-धीरे उतरा और सारे अंगूर...Read More

भूखे को खाना - बाल कहानी

Bhukhe Ko Khana Kids Stories Stories For Kids

"कहानी" चौक पर चौबे जी की दुकान थी। खूब बढ़िया कचौड़ी-पकौड़ी बनाते थे। कौन उनकी तारीफ नहीं करता? एक दिन मौसी ने मौसा जी के लिए कचौड़ी लाने गौरी को भेजा। गौरी ने नौ रूपये की कचौड़ी खरीदीं और घर लौटने लगी। राह में एक बुढ़िया मिली। कहा- 'बेटी, दो दिन से भूखी हूँ। कुछ खाने...Read More

123