हिंदी कविता - Hindi Rhymes

लोकप्रिय कवियों तथा कवित्रियों द्वारा हिंदी में बच्चों की कविताओं का संग्रह, बच्चों के लिए लिखी गई बाल-कविताएं, हिंदी राइम्स, हिंदी कविता, हिंदी पोयम्स, नर्सरी राइम्स इन हिंदी, बच्चों के लिए बाल कविताएँ, बच्चों की दुनिया में कविता, २ से १५ साल के बच्चों के लिये कविताएं, हास्य के लिए लिखी गयी कविताएं, छोटे बच्चों की छोटी कविताएं पढ़ सकते हैं।

You read here Hindi Rhymes, poems in hindi, poems for kids, kavita kosh, hindi poems, hindi kavita, balgeet, child poem in hindi, hindi short poems, short poem in hindi, rhymes, nursery rhymes, rhymes for kids, kids rhymes, children rhymes, baby rhymes, ukg rhymes, lkg rhymes, nursery songs, nursery poetry, poem rhyme, preschool rhymes etc.

आप अपना सुझाव हमें देने के लिए हमसे यहाँ संपर्क कर सकते है।

सीखो - कविता

Sikho Hindi Rhymes

"कविता" फूलों से तुम हँसना सीखो, भंवरों से नित गाना। वृक्षों की डाली से सीखो, फल आए झुक जाना। सूरज की किरणों से सीखो, जगना और जगाना। लता और पेड़ो से सीखो, सबको गले लगाना। दूध और पानी से सीखो, मिल जुलकर सबसे रहना। अपनी प्रिय पृथ्वी से सीखो, >हँस हँस सब कुछ...Read More

पकौड़ी - कविता

Pakauri Hindi Rhymes

"कविता" दौड़ी-दौड़ी, आई पकौड़ी। छुन-छुन, छुन-छुन, तेल में नाची, प्लेट में आ, शरमाई पकौड़ी। दौड़ी-दौड़ी, आई पकौड़ी। हाथ से उछली, मुंह में मचली, पेट में जा, घबराई पकौड़ी। दौड़ी-दौड़ी, आई पकौड़ी। मेरे मन को, भाई पकौड़ी। नोट :- आपको ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट्स बॉक्स में जरूर लिखे और शेयर करें, धन्यवाद। ...Read More

झुला - कविता

Jhoola Hindi Rhymes

"कविता" माली आज लगा दे झूला, झूले पर हम झूला झूलें। इस पर चढ़कर, ऊपर बढ़कर, आसमान को हम छू लें। झूला झूल रही है डाली, झूल रही है पत्ती-पत्ती। इस झूले पर बड़ा मजा है, बहुत आधिक है मस्ती। झूला झूल रही है गुड़िया, झूला झूले रस की पुड़िया। झूला जुले सारा...Read More

प्रातः काल - कविता

Pratah Kaal Hindi Rhymes

"कविता" प्रातः काल घूमता हूँ, पुनः लौटकर आता हूँ। दुःख आए तो रोओ मत, छः बजे तक सोओ मत। छः बजे तक सोओ मत।। नोट :- आपको ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट्स बॉक्स में जरूर लिखे और शेयर करें, धन्यवाद। ...Read More

हँस हँस कर - कविता

Hans Hans Kar Hindi Rhymes

"कविता" सुबह उठो तो कभी न रोओ, हाथ, आँख, मुँह पहले धोओ। हँस-हँसकर सबको हंसाओ, धुएं से तुम बचो-बचाओ। धुएं से तुम बचो-बचाओ।। नोट :- आपको ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट्स बॉक्स में जरूर लिखे और शेयर करें, धन्यवाद। ...Read More

1234...»