1. होम
  2. धार्मिक आरती
  3. गणेश जी की आरती

गणेश जी की आरती

गणेश जी की आरती (Ganesh Aarti in Hindi) किसी भी नये शुभ अवसर करना बहुत शुभ माना जाता है। भारत में किसी भी नये काम की शुरुआत करने के लिए सर्वप्रथम गणेश भगवान की पूजा की जाती है इसके बाद विभिन्न देवी देवता की पूजा की जाती है, देवी देवता की पूजा में आरती का विशेष महत्त्व होता है।

Ganesh Ji Religious Aarti

"आरती"

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥ जय...

एक दंत दयावंत चार भुजा धारी।
माथे सिंदूर सोहे मूसे की सवारी॥

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया।
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया॥

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥

पान चढ़े फल चढ़े और चढ़े मेवा।
लड्डुअन का भोग लगे संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥

'सूर' श्याम शरण आए सफल कीजे सेवा
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ॥

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥

नोट :- आपको ये पोस्ट कैसी लगी, कमेंट्स बॉक्स में जरूर लिखे और शेयर करें, धन्यवाद।

Related Posts :

  1. शिरडी सांई बाबा की आरती
  2. श्री रामायण जी की आरती
  3. श्री सिद्धिदात्री माता जी की आरती
  4. महागौरी माता जी की आरती
  5. श्री स्कंदमाता जी की आरती
  6. ब्रह्मचारिणी माता की आरती