धार्मिक आरती - Religious Aarti

श्री स्कंदमाता जी की आरती

Skandmata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय तेरी हो स्कंद माता। पांचवां नाम तुम्हारा आता॥ सबके मन की जानन हारी। जग जननी सबकी महतारी॥ तेरी जोत जलाता रहू मैं। हरदम तुझे ध्याता रहू मै॥ कई नामों से तुझे पुकारा। मुझे एक है तेरा सहारा॥ कही पहाडो पर है डेरा। कई शहरों में तेरा बसेरा॥ हर मंदिर में तेरे...Read More

ब्रह्मचारिणी माता की आरती

Brahmcharini Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय अंबे ब्रह्मचारिणी माता। जय चतुरानन प्रिय सुख दाता॥ ब्रह्मा जी के मन भाती हो। ज्ञान सभी को सिखलाती हो॥ ब्रह्म मंत्र है जाप तुम्हारा। जिसको जपे सरल संसारा॥ जय गायत्री वेद की माता। जो जन जिस दिन तुम्हें ध्याता॥ कमी कोई रहने ना पाए। उसकी विरति रहे ठिकाने॥ जो तेरी महिमा...Read More

कात्यायनी माता की आरती

Katyayani Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय जय अंबे जय कात्यायनी। जय जगमाता जग की महारानी॥ बैजनाथ स्थान तुम्हारी। वहां वरदानी नाम पुकारा॥ कई नाम है कई धाम हैं। यह स्थान भी तो सुखधाम है॥ हर मंदिर में जोत तुम्हारी। कही योगेश्वरी महिमा न्यारी॥ हर जगह उत्सव होते रहते। हर मंदिर में भक्त हैं कहते॥ कात्यायनी रक्षक काया...Read More

कुष्मांडा माता की आरती

Kushmanda Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" कूष्मांडा जय जग सुखदानी। मुझ पर दया करो महारानी॥ पिगंला ज्वालामुखी निराली। शाकंबरी माँ भोली भाली॥ लाखों नाम निराले तेरे । भक्त कई मतवाले तेरे॥ भीमा पर्वत पर है डेरा। स्वीकारो प्रणाम ये मेरा॥ सबकी सुनती हो जगदंबे। सुख पहुँचती हो माँ अंबे॥ तेरे दर्शन का मैं प्यासा। पूर्ण कर दो मेरी...Read More

श्री अहोई माता की आरती

Ahoi Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय अहोई माता, जय अहोई माता। तुमको निसदिन ध्यावत हरी विष्णु धाता॥ ॐ जय अहोई माता॥ ब्रम्हाणी रुद्राणी कमला तू ही है जग दाता। जो कोई तुमको ध्यावत नित मंगल पाता॥ ॐ जय अहोई माता॥ तू ही है पाताल बसंती तू ही है सुख दाता। कर्म प्रभाव प्रकाशक जगनिधि से त्राता॥ ॐ जय अहोई माता॥...Read More