धार्मिक आरती - Religious Aarti

अम्बे माता की आरती

Ambey Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय अम्बे गौरी मैया, जय श्यामा गौरी, तुमको निसदिन ध्यावत , हरि ब्रह्मा शिवजी॥ जय अम्बे गौरी...... मांग सिंदूर बिराजत, टिको मृगमद को, उज्जवल से दोउ नैना, चन्द्रवदन निको॥ जय अम्बे गौरी..... कनक सामान कलेवर, रक्ताम्बर राजे , रक्तपुष्प गलमाला, कंठन पर साजे॥ जय अम्बे गौरी....... केहरी वाहन राजत, खड्ग खप्पर धारी सुर-नर-मुनि-जन सेवत...Read More

भगवन श्री खाटू श्याम जी की आरती

Khatu Shyam Religious Aarti

"आरती" ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे। निज भक्तन के तुमने, पूरण काम करे॥ ॐ गल पुष्पों की माला, सिर पार मुकुट धरे। पीत बसन पीताम्बर, कुण्डल कर्ण पड़े॥ ॐ रत्नसिंहासन राजत, सेवक भक्त खड़े। खेवत धूप अग्नि पर, दीपक ज्योति जरे॥ ॐ मोदक खीर चूरमा, सुवर्ण थाल भरे। सेवक भोग...Read More

माता वैष्णो की आरती

Veshno Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" जय वैष्णो माता, मैया जय वैष्णो माता। हाथ जोड़ तेरे आगे, आरती मैं गाता॥ शीश पे छत्र विराजे, मूरतिया प्यारी। गंगा बहती चरनन, ज्योति जगे न्यारी॥ ब्रह्मा वेद पढ़े नित द्वारे, शंकर ध्यान धरे। सेवक चंवर डुलावत, नारद नृत्य करे॥ सुन्दर गुफा तुम्हारी, मन को अति भावे। बार-बार देखन को, ऐ माँ मन चावे॥...Read More

श्री शाकुम्भरी माता की आरती

Shakumbhari Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" हरी ॐ श्री शाकुम्भरी अम्बा जी की आरती की जो। ऐसी अदभुत रूप ह्रदय धर लीजो॥ शताक्षी दयालु की आरती की जो। तुम परिपूर्ण आदि भवानी माँ, सब घट तुम आप बखानी माँ॥ शाकुम्भरी अम्बा जी की आरती कीजो। तुम्ही हो शाकुम्भर, तुम ही हो सताक्षी माँ॥ शिवमूर्ति माया प्रकाशी माँ। शाकुम्भरी अम्बा जी...Read More

चिंतपूर्णी माता की आरती

Chintpurna Mata Aarti Religious Aarti

"आरती" चिंतपूर्णी चिंता दूर करनी, जग को तारो भोली माँ॥ भोली माँ॥ जन को तारो भोली माँ, काली दा पुत्र पवन दा घोड़ा॥ भोली माँ॥ सिन्हा पर भाई असवार, भोली माँ, चिंतपूर्णी चिंता दूर॥ भोली माँ॥ एक हाथ खड़ग दूजे में खांडा, तीजे त्रिशूल सम्भालो॥ भोली माँ॥ चौथे हाथ चक्कर गदा, पाँचवे-छठे मुण्ड़ो की...Read More