धार्मिक चालीसा - Chalisa

श्री लक्ष्मी माता चालीसा

Laxmi Mata Chalisa

Laxmi Mata Chalisa In Hindi, लक्ष्मी हिन्दू धर्म की एक प्रमुख देवी हैं। वो भगवान विष्णु की पत्नी हैं और धन, सम्पदा, शान्ति और समृद्धि की देवी मानी जाती हैं। ऐसी मान्यता है कि लक्ष्मी जी की नित्य पूजा करने से मनुष्य के जीवन में कभी दरिद्रता नहीं आती है। दीपावली के त्योहार में उनकी गणेश सहित पूजा की जाती है। गायत्री की कृपा से मिलने वाले वरदानों में एक लक्ष्मी भी है। जिस पर यह अनुग्रह उतरता है, वह दरिद्र, दुर्बल, कृपण, असंतुष्ट एवं पिछड़ेपन से ग्रसित नहीं रहता। स्वच्छता एवं सुव्यवस्था के स्वभाव को भी 'श्री' कहा...Read More

-Advertisement-

श्री गायत्री माता चालीसा

Gaytri Mata Chalisa

Gaytri Mata Chalisa In Hindi, गायत्री माता को भारतीय संस्कृति की जननी कहा गया है। वेदों से लेकर धर्मशास्त्रों तक समस्त दिव्य ज्ञान गायत्री के बीजाक्षरों का ही विस्तार है। माँ गायत्री का आँचल पकड़ने वाला सााधक कभी निराश नहीं हुआ। भगवती गायत्री आद्यशक्ति प्रकृति के पाँच स्वरूपों में एक हैं। वेद माता कहलाने वाली भगवती गायत्री का प्रादुर्भाव सविता के मुख से हुआ था। इस संसार में सत-असत जो कुछ हैं, वह सब ब्रह्मस्वरूपा गायत्री माता का ही हैं। ...Read More

श्री सरस्वती माता चालीसा

Saraswati Mata Chalisa

Saraswati Mata Chalisa In Hindi, सरस्वती जी को श्वेत वर्ण अत्यधिक प्रिय होता है। श्वेत वर्ण सादगी का परिचायक होता है। हिन्दू धर्म के अनुसार श्री कृष्ण जी ने सर्वप्रथम सरस्वती जी की आराधना की थी। सरस्वती हिन्दू धर्म की प्रमुख देवियों में से एक हैं। सरस्वती विद्या एवं ज्ञान की देवी हैं। सरस्वती को साहित्य, संगीत, कला की देवी भी माना जाता है। सरस्वती शब्द का अर्थ है "सरोवरों से परिपूर्ण"। ...Read More

-Advertisement-

श्री कृष्णा जी का चालीसा

Krishna Chalisa

Krishna Chalisa In Hindi, सनातन धर्म के अनुसार भगवान विष्णु सर्वपापहारी पवित्र और समस्त मनुष्यों को भोग तथा मोक्ष प्रदान करने वाले प्रमुख देवता हैं। कृष्ण हिन्दू धर्म में विष्णु के अवतार हैं। जब-जब इस पृथ्वी पर असुर एवं राक्षसों के पापों का आतंक व्याप्त होता है तब-तब भगवान विष्णु किसी न किसी रूप में अवतरित होकर पृथ्वी के भार को कम करते हैं। वैसे तो भगवान विष्णु ने अभी तक तेईस अवतारों को धारण किया। इन अवतारों में उनके सबसे महत्वपूर्ण अवतार श्रीराम और श्रीकृष्ण के ही माने जाते हैं। श्री कृष्ण का जन्म क्षत्रिय कुल में राजा...Read More

-Advertisement-

श्री राम चन्द्र जी का चालीसा

Shree Ram Chalisa

Shree Ram Chalisa In Hindi, भगवान राम (रामचन्द्र) का अवतार अयोध्या के राजा दशरथ और कौशिल्या के यहां हुआ था। यह राजा दशरथ और कौशिल्या के सबसे बडे पुत्र थे। हिन्दू धर्मानुसार भगवान राम विष्णु के दशावतारों में से सातवें अवतार हैं। राम (रामचन्द्र), प्राचीन भारत में अवतरित, भगवान हैं। राम का जीवनकाल एवं पराक्रम, महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित, संस्कृत महाकाव्य रामायण के रूप में लिखा गया है। उन पर तुलसीदास ने भी भक्ति काव्य श्री रामचरितमानस रचा था। खास तौर पर उत्तर भारत में राम बहुत अधिक पूजनीय हैं। रामचन्द्र हिन्दुओं के आदर्श पुरुष हैं। ...Read More