1. होम
  2. हिंदी कविता
  3. नये साल की सुबह सुहानी

नये साल की सुबह सुहानी

नये साल की सुबह सुहानी, छोड़ो यारो बात पुरानी।
नया साल और नयी सुबह, नयी नयी हैं अभी वजह।

चलती रहे यही ज़िंदगानी, नये साल की सुबह सुहानी।
छोड़ो यारो बात पुरानी, प्यार मोहब्बत की हो बस कहानी।

ये नया साल रहे सबसे कूल, माफ़ कर गलतिया जाओ भूल।
नाराजगी का ना रहे कोई नाम, 2020 में आपके बने सारे काम।

नये साल की सुबह सुहानी, छोड़ो यारो बात पुरानी।
चलती रहे यही ज़िंदगानी, छोड़ो यारो बात पुरानी।

Naye Saal Ki Subah Suhaani Hindi Rhymes

-Advertisement-

Naye Saal Ki Subah Suhaani, Chhodo Yaro Baat Puraani.
Naya Saal Aur Nayi Subah, Nayi Nayi Hain Abhi Vajah.

Chalti Rahe Yahi Zindagaani, Naye Saal Ki Subah Suhaani.
Chhodo Yaaro Baat Puraani, Pyaar Mohabbat Ki Ho Bas Kahaani.

Ye Naya Saal Rahe Sabase Kool, Maaf Kar Galatiya Jao Bhool.
Naaraajgi Ka Na Rahe Koi Naam, 2020 Mein Aapake Bane Saare Kaam.

Naye Saal Ki Subah Suhaani, Chhodo Yaro Baat Puraani.
Chalati Rahe Yahi Zindagaani, Chhodo Yaro Baat Puraani.

-Advertisement-

-Advertisement-

Related Posts :

  1. हर रोज उस चांद में
  2. वह - कविता
  3. चम्मू चींटा - बाल कविता
  4. चिड़िया के थे बच्चे चार
  5. भूल गया है क्यों इंसान
  6. हम कुछ करके दिखलाएँगे - कविता

-Advertisement-